नोटों पर तस्वीर के मामले में क्या होगा फैसला?

Category: Arts



blog address: https://mojopatrakar.com

blog details: नोटों पर तस्वीर मामले में कई प्रकार के सुझाव दिए गए हैं! भारत में नोटबंदी के 6 साल बाद एक बार फिर करेंसी की चर्चा शुरू हो गई है। तब 500 और 1000 के नोट चलन से बाहर हो गए थे और नया नोट 2000 रुपये का आया था। अब 24 घंटे से लोग अपने पर्स में रखे नोटों को करीब से देख रहे हैं। आगे के हिस्से में गांधी जी की मुस्कुराती तस्वीर दिखती है और पीछे के हिस्से में दिल्ली का लाल किला, रानी की बाव, सांची स्तूप, एलोरा की गुफाएं आदि दिखाई देती हैं। वैसे, पीछे की तस्वीर अलग-अलग मूल्य के नोटों पर अलग-अलग छापी जाती है। नोटों पर डिबेट की बड़ी वजह है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मांग की है कि करेंसी नोटों पर भगवान गणेश और लक्ष्मी के चित्र छापे जाएं तो देश तरक्की करेगा। उनका मानना है कि करेंसी नोटों पर देवताओं के चित्र प्रकाशित करने से लोगों को दैवीय आशीर्वाद मिलेगा, जिससे आर्थिक लाभ होगा। फिर क्या था कांग्रेस के मनीष तिवारी ने आंबेडकर की तस्वीर लगाने की मांग उछाली, उधर महाराष्ट्र के बीजेपी नेता नितेश राणे ने फोटोशॉप की गई तस्वीर शेयर कर दी जिसमें 200 रुपये के नोट पर शिवाजी दिखाई देते हैं। आजकल हमारी जेब में मौजूद नोटों में महात्मा गांधी नजर आते हैं। हालांकि 75 साल से ऐसा नहीं है। 1947 में देश को आजादी मिली और 22 साल के बाद 1969 में राष्ट्रपिता की जन्म शताब्दी के मौके पर रिजर्व बैंक ने 100 रुपये के नोट पर पहली बार बापू की तस्वीर छापी। बताते हैं कि आजादी मिलने के फौरन बाद ही इस पर चर्चा शुरू हो गई थी लेकिन बापू की तस्वीर पर आम सहमति बनने में काफी टाइम लग गया। तब तक ब्रिटिश किंग की तस्वीर की जगह सारनाथ की तस्वीर प्रकाशित की जा रही थी। 1987 में 500 रुपये के नोट पर मुस्कुराते हुए गांधी की तस्वीर छापी गई और फिर यह चलन में आ गया। कम लोगों को पता होगा कि आजादी के बाद नोट पर काफी प्रयोग किए गए। 1949 में 1 रुपये के नोट के डिजाइन पर अशोक स्तंभ लाया गया। 1953 में नए नोटों पर हिंदी प्रमुखता से दिखी। इस पर भी डिबेट हुआ कि रुपया लिखें या रुपये। 1954 में तो 1,000 रुपये, 5,000 रुपये और 10,000 रुपये के नोट चलन में आ गए। इससे पहले 1938 में पहली बार भारतीय रिजर्व बैंक ने सबसे ज्यादा मूल्य के 10,000 रुपये के नोट प्रिंट किए थे। 1996, 2005 और फिर 2016 में महात्मा गांधी सीरीज के नए नोट जारी किए गए। RBI की वेबसाइट पर FAQ सेक्शन में 10वां सवाल यही है कि नए बैंक नोट पर किसकी तस्वीर छापी जाएगी, इसका फैसला कौन करता है। जवाब में बताया गया है कि आरबीआई ऐक्ट के सेक्शन 25 के तगत बैंक नोट के डिजाइन, स्वरूप और सामग्री को लेकर फैसला सेंट्रल बोर्ड की सिफारिशों पर केंद्र सरकार लेती है। मतलब साफ है कि दोनों- सरकार और आरबीआई की संयुक्त टीम यह तय करती है। After independence, when it took two decades to print Mahatma Gandhi's picture, it is not easy to take a decision to put a picture of God in a secular country India. came in. Few people would know that after independence a lot of experiments were done on the note. In 1949, the Ashoka Pillar was introduced on the design of the Re 1 note. Hindi appeared prominently on the new notes in 1953. There was also a debate on whether to write Rupee or Rupee. In 1954, Rs 1,000, Rs 5,000 and Rs 10,000 notes came into circulation. Earlier in 1938, for the first time, the Reserve Bank of India had printed the highest denomination notes of Rs 10,000. New notes of Mahatma Gandhi series were issued in 1996, 2005 and again in 2016. Often there is a demand to put Ambedkar's picture in place of Bapu. Subhash Chandra Bose and many people on behalf of Hindu Mahasabha have been demanding to put the picture of Rabindranath Tagore, APJ Abdul Kalam. The panel has clearly said that no other personality can portray the character of the country better than Mahatma Gandhi, after printing the picture of any other national leader on the notes. In this regard, the statement of the then Finance Minister Arun Jaitley in the Lok Sabha in 2014 assumes significance. He had said that the Reserve Bank's panel on printing the picture of any other national leader on the notes has clearly said that no other personality can portray the character of the country better than Mahatma Gandhi. Find Latest News in hindi and Breaking News in hindi today from India on Politics, Business, Entertainment, Technology, Sports, Lifestyle, Bollywood news, hindi news and more at mojopatrakar.

keywords: hindi news, latest news in hindi ,breaking news in hindi, bollywood news

member since: Nov 04, 2022 | Viewed: 147



More Related Blogs |

Page 1 of 46




First Previous
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12
Next Last
Page 1 of 46